हैंड स्पिनिंग एंड हैंड वीविंग निबंध, खादी राष्ट्रवाद का प्रतीक कैसे बनी | Hand Spinning and Hand Weaving - History of Clothing and Way Forward

यदि आपको भारतीय कपड़ों के पूरे इतिहास के बारे में जानना है तो यह निबंध आपकी मदद कर सकता है। यह निबंध आपको विस्तृत तरीके से भारत के कपड़ों के इतिहास का ज्ञान देगा।

यह निबंध अंग्रेजी में है, पर इसका हिंदी में अनुवाद भी हुआ है। 

लगभग ढाई सौ पन्ने का यह निबंध आपको भारत के वस्त्रों के इतिहास के बारे में बताएगा। कैसे इस व्यापार को डुबाया गया यह भी बताएगा। और हम आगे भारत के इस प्राचीन वस्त्र उद्योग को बचाने के लिए क्या कर सकते हैं इसकी प्रेरणा भी देगा।

करीब १९२५ में लिखा गया यह निबंध, उस समय संपूर्ण भारत में की गई एक प्रतियोगिता का नतीजा है। यह निबंध उस प्रतियोगिता में प्रथम स्थान आया था। इसके निरीक्षक स्वयं महात्मा गांधी थे।

Handicraft, hand weaving, operating handloom, handloom design, हथकरघा,


प्रस्तुत है दो भारतीयों द्वारा लिखा गया हाथ कताई व हाथ बुनाई का वह निबंध अंग्रेजी भाषा में।



टिप्पणियाँ