खादी का निर्माण कैसे होता है? चरखा शास्त्र - मगनलाल गांधी | Technical aspects of Khadi Book

खादी कैसे बनाते हैं? इस बात की पूरी व्याख्या महात्मा गांधी जी के भतीजे श्री मगनलाल खुशाल चंद गांधी ने अपनी पुस्तक में दी है।

यह पुस्तक मूल रूप से गुजराती में लिखी हुई है। इसका अनुवाद हिंदी भाषा तथा मराठी भाषा में भी हुआ है। मैं यहां पर आपको तीनों भाषाओं में यह पुस्तक प्रदान करूंगा।

हिंदी भाषा में इस पुस्तक का नाम चरखा शास्त्र है।


गांधीजी और खादी, चरखा और हमारी संस्कृति, चरखे से देश की गरीबी कैसे मिटाएं, वनात शास्त्र, खादी शास्त्र, चरखा शास्त्र, मगनलाल गांधी, खादी के कपड़े कैसे बनते हैं, खादी उद्योग, खादी का विज्ञान, हथकरघा उद्योग, खादी पुस्तक,
मराठी भाषा में इस पुस्तक का नाम खादी शास्त्र है।

गुजराती भाषा में इस पुस्तक का नाम वनात शास्त्र है।

खादी बनाने के लिए कपास की फसल से लेकर सूत बनाने तक की पूरी तकनीकी जानकारी इस पुस्तक में दी गई है। सूत बनाने के बाद करघे पर कपड़े बनाने की जानकारी इसमें नहीं दी गई है।

परंतु हथकरघा की जानकारी आपको आज मिल सकती है। चरखे तो भारत से लुप्त हो गए, पर, किन्ही जगह कुछ हथकरघे अभी तक बचे हुए हैं।

आशा है कि पाठक चरखा शास्त्र में से सूत बनाने की तकनीक सीखने के बाद कपड़े बनाने की तकनीक सीखने में भी रुचि रखेंगे। यह उत्तम दर्जे की कला है। जिसका की आगत वर्षों में मूल्य बढ़ता ही जाएगा।

टिप्पणियाँ